September 27, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • कोरोना की बेकाबू रफ्तार से गहराया संकट,दिल्ली,भोपाल और सूरत के श्मशानों में वेटिंग; कब्रिस्तानों में भारी भीड़

कोरोना की बेकाबू रफ्तार से गहराया संकट,दिल्ली,भोपाल और सूरत के श्मशानों में वेटिंग; कब्रिस्तानों में भारी भीड़

By Purvanchalnama Desk on April 15, 2021
0 231 Views
शेयर न्यूज

नई दिल्ली(एजेंसी)- देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण की बेकाबू रफ्तार के बीच रिकॉर्ड संख्‍या में मौतें दर्ज की जा रही हैं। राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में भी हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। लोगों को अस्‍पतालों में बिस्‍तर की कमी से जूझना पड़ रहा है तो मौत के बाद उनकी अंत्येष्टि में भी दिक्‍कतें आ रही हैं। श्‍मनान घाटों पर चिताओं की आग ठंडी नहीं पड़ रही है तो कब्रिस्‍तान में दफनाने के लिए जमीन कम पड़ती जा रही है।दिल्‍ली में बुधवार को 24 घंटों के भीतर दिल्ली में 17,282 नए केस दर्ज किए गए, जो अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। वहीं एक दिन में इस बीमारी से जान गंवाने वाले लोगों की संख्‍या 104 रही। यह राष्‍ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में 20 नवंबर, 2020 के बाद एक दिन में मौतों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। मौतों की बढ़ती संख्‍या के बीच परिजनों को मृतकों की अंत्‍येष्टि में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

कोरोना से बढ़ा मौतों का आंकड़ा

दिल्ली के सबसे बड़े श्मशानघाट निगमबोध घाट पर इस महामारी से परिजनों को खो चुके लोगों को उनकी अंत्येष्टि के लिए घंटों इंतजार करना पड़ रहा है। प्रत्‍यक्षदर्शियों के मुताबिक, यहां एक-एक एम्बुलेंस में दो-तीन शव लाए जा रहे हैं। कोरोना से अपने दादा को गंवा चुके 27 वर्षीय एक शख्‍स के मुताबिक, 5 घंटों के इंतजार के बाद भी अंत्येष्टि के लिए उनका नंबर नहीं आया।यही हाल दिल्‍ली में आईटीओ के पास स्थित यहां के सबसे बड़े कब्रिस्‍तानों में शामिल जदीद कब्रिस्‍तान अहले इस्‍लाम का है, जहां जेसीबी मशीन का इस्‍तेमाल करते हुए लगातार कब्र खोदी जा रही है, ताकि शवों को दफनाया जा सके। लेकिन यह काम यहां भी शवों को दफनाने के लिए जमीन कम पड़ती जा रही है।कोरोना की दूसरी लहर के बीच मौतों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। भोपाल स्थित विश्रामघाटों एवं कब्रिस्तानों में अंतिम संस्कार करने के लिए जगह की कमी सहित कई मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। पिछले कुछ दिनों से यहां विश्रामघाटों एवं कब्रिस्तानों में अंतिम संस्कार करने के लिए लाये जाने वाले शवों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। भदभदा विश्राम घाट प्रबंधन समिति के सचिव मम्तेश शर्मा ने बताया कि पिछले चार दिनों में हमने भदभदा विश्राम घाट में करीब 200 शवों का अंतिम संस्कार किया। इनमें से कई लोगों का अंतिम संस्कार कोविड-19 के प्रोटोकॉल के मुताबिक किया गया। अब हमने पास में ही दो एकड़ जमीन पर अंतिम संस्कार कर रहे हैं। भदभदा विश्राम घाट प्रदेश की राजधानी भोपाल में हिन्दुओं के बड़े श्मशान घाटों में से एक है।गुजरात के अहमदाबाद और सूरत शहर में कोरोना फिर कहर बनकर टूटा है। संक्रमण के केसों ने अब तक के सभी रिकार्ड तोड़ दिए हैं। आलम यह है कि श्‍मशानों में जहां 10 से 12 घंटे की वेटिंग है, वहीं कब्रिस्‍तान में जेसीबी से खुदाई कराकर एडवांस में कब्रें तैयार की जा रही हैं। अहमदाबाद के सीएनजी संचालित शवदाह गृह में 10-12 घंटे की वेटिंग चल रही है। व्‍यापार मंडल ने श्‍मशान घर में लोगों से शवदाह के लिए ल‍कड़ियां दान करने की भी अपील की है।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.