October 4, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • ग्लोबल आयुर्वेद फेस्टिवल में बोले पीएम मोदी – प्रकृति से आयुर्वेद का गहरा नाता, यह लोक कल्याण का माकूल वक्‍त

ग्लोबल आयुर्वेद फेस्टिवल में बोले पीएम मोदी – प्रकृति से आयुर्वेद का गहरा नाता, यह लोक कल्याण का माकूल वक्‍त

By Purvanchalnama Desk on March 12, 2021
0 117 Views
शेयर न्यूज

नई दिल्ली(एजेंसी)- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार की शाम वैश्विक आयुर्वेद महोत्सव को संबोधित किया। यहां प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय संस्कृति और आयुर्वेद का गहरा संबंध है।भारतीय संस्कृति प्रकृति और पर्यावरण का बहुत आदर करती है और आयुर्वेद की तरफ रुझान इसका सबूत है।पीएम मोदी ने यह भी कहा कि आयुर्वेद की लोकप्रियता की वजह से भारत के सामने बड़ा मौका है जिसको गंवाना नहीं चाहिए।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आयुर्वेद को समग्र मानव विज्ञान कहा जा सकता है। पीएम बोले, ‘पेड़ों से लेकर प्लेट तक, शारीरिक बल से मानसिक स्थिति तक आयुर्वेद का गहरा प्रभाव होता है।

भारतीय संस्कृति और आयुर्वेद का गहरा संबंध-पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि मौजूदा स्थिति की बात करें तो इस वक्त आयुर्वेद दुनियाभर में बहुत पॉपुलर हो रहा है और अब लोगों को इसके फायदों के बारे में समझ आ रहा है। पीएम मोदी ने बताया कि ग्लोबल आयुर्वेद फेस्टिवल में 25 देश शामिल हो रहे हैं, जिसकी उन्हें काफी खुशी है।उन्होंने इसे अच्छा संकेत भी बताया। वह बोले कि यह दिखाता है कि दवाओं के क्षेत्र में आयुर्वेद और पारंपरिक तरीकों की तरफ ध्यान जा रहा है। मोदी ने कहा कि ऐसे प्रयासों का फायदा पूरी मानवता को होगा।पीएम मोदी ने बताया कि वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन ने भी भारत में ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसिन खोलने की बात कही है। और बहुत से देशों के लोग भारत आकर आयुर्वेद और दूसरे पारंपरिक उपचारों के बारे में पढ़ रहे हैं।पीएम ने कहा कि आयुर्वेद को बढ़ावा देने में भारत पूरा योगदान देगा।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.