October 3, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • विविधा
  • बिना तथ्यों की जानकारी के समाचार छापना दुर्भाग्यपूर्ण-एन. के .प्रियदर्शी

बिना तथ्यों की जानकारी के समाचार छापना दुर्भाग्यपूर्ण-एन. के .प्रियदर्शी

By Purvanchalnama Desk on May 10, 2021
0 399 Views
शेयर न्यूज

सीवान(राजीव रंजन राजू)-सीवान में पदस्थापित एडीजे जीवन लाल के पिता के शव से जुड़ी भ्रामक खबर विभिन्न अखबारों में छापने को लेकर जिला विधिक सेवा प्राधिकार ने क्षोभ व्यक्त किया है।प्राधिकार के सचिव एन के प्रियदर्शी ने इस मामले को लेकर एक आवश्यक बैठक बुलाई। इस बैठक में कॉर्डिनेशन कमिटी के सदस्य राजीव रंजन राजू तथा पैनल एडवोकेट डॉ विजय कुमार पांडेय उपस्थित हुए। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत हुई इस बैठक में एन.के. प्रियदर्शी ने बताया कि सीवान के एडीजे 6 जीवन लाल के 70 वर्षीय पिता स्वर्गीय ब्रम्हदेव की मृत्यु इलाज के दौरान हो गई। विदित हो कि न्यायाधीश महोदय का पूरा परिवार कोरोना से संक्रमित है तथा उनके परिवार में दो लोगो की हाल ही में संक्रमण से मौत हो चुकी है। कोरोना संक्रमित न्यायाधीश महोदय स्वयं अपने पिता का शव लाने की स्थिति में नही थे। ऐसी स्थिति में उन्होंने सिविल सर्जन ,सीवान को पत्र लिखकर अधिवक्ता गणेश राम को अपने पिता के अंतिम संस्कार हेतु अधिकृत किया।श्री प्रियदर्शी ने आगे कहा कि बिना तथ्यों की जानकारी के इस दुखद घटना को सनसनीखेज बनाये जाने से एडीजे साहब भारी मानसिक अवसाद में है।अति उत्साह में ‘मृत पिता की जज पुत्र ने नही ली डेड बॉडी’,’जज पुत्र ने शव लेने से किया इंकार’, ‘पुत्र ने अंतिम संस्कार भी नही किया’, ‘यह तो अन्याय है जज साहब’ के शीर्षक से खबरें छाप दी गयी। जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव ने समाचार पत्रों के प्रभारियों को आगाह किया कि ऐसे भ्रामक समाचार से किसी भी व्यक्ति की प्रतिष्ठा से खिलवाड़ नही किया जाना चाहिये। यह अत्यंत अशोभनीय तथा दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। श्री प्रियदर्शी ने कहा कि एडीजे जीवनलाल कोरोना संक्रमण ओर मानसिक यंत्रणा से अतिशीघ्र मुक्त हो ओर यदि वे कोई कानूनी कदम उठाना चाहते हो तो वे स्वतंत्र है।बैठक में प्राधिकार कर्मी सुनीति कुमारी, बलवंत कुमार, रंजीत दुबे, जय प्रकाश, अतुल कुमार समेत अन्य कर्मचारी उपस्थित थे।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.