October 3, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • दिल्ली में लॉकडाउन घोषित होते ही पलायन शुरू,आनन्द विहार में उमड़ी प्रवासियों की भीड़

दिल्ली में लॉकडाउन घोषित होते ही पलायन शुरू,आनन्द विहार में उमड़ी प्रवासियों की भीड़

By Purvanchalnama Desk on April 19, 2021
0 114 Views
शेयर न्यूज

नई दिल्ली(एजेंसी)- दिल्ली में और फिर उत्तर प्रदेश के पांच शहरों में लॉकडाउन के ऐलान के बाद प्रवासी मजदूरों के जत्थे एक बार फिर उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ रहे हैं। बस अड्डों पर भारी संख्या में प्रवासी मजदूर घर वापस जाने के लिए उमड़ पड़े हैं। आनंद विहार बस अड्डे पर भारी संख्या में प्रवासी मजदूरों की भीड़ आ गयी है। उत्तर प्रदेश और बिहार जाने वाले लोगों की भीड़ बढ़ती जा रही है। दिल्ली में एक सप्ताह का लॉकडाउन है लेकिन मजदूरों को भरोसा नहीं है कि एक सप्ताह बाद दिल्ली में सब कुछ सामान्य हो जाएगा। सबको इसके लंबा चलने का डर सता रहा है।यही डर है कि मजदूरों का पलायन होने लगा है। आनंद विहार के फुट ओवर ब्रिज पर सबसे ज्यादा भीड़ देखी जा सकती है।

बसों में लटककर जा रहे प्रवासी

यूपी परिवहन निगम का कौशाम्बी बस अड्डे से यूपी और बिहार जाने वाली बसें पूरी भरकर जा रही हैं। बसों में लोग बाहर लटक कर जा रहे हैं। यह भीड़ कहीं न कहीं कोरोना कैरियर साबित हो सकती है क्योंकि बड़ी संख्या में लोग मास्क ठीक से नहीं लगा रहे है और सामाजिक दूरी का तो कोई वैसे ही ख्याल नहीं रख रहा है।कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने प्रदेश में सोमवार से लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है। सोमवार रात 10 बजे से 26 अप्रैल सुबह 5 बजे तक यह लॉकडाउन लागू रहेगा। सीएम अरविंद केजरीवाल के यह ऐलान करने के बाद से ही राजधानी में रहने वाले प्रवासी मजदूरों में खलबली मच गई। लोग लॉकडाउन लागू होने से पहले ही अपने घर वापस जाने के लिए बस अड्डों पर जमा होने लगे। किसी को जगह मिली तो कोई बसों पर लटककर अपने घर वापस गया। यूपी के अलावा बिहार, मध्य प्रदेश और राजस्थान जाने वाले लोगों का जत्था बस अड्डों पर उमड़ पड़ा। सभी लॉकडाउन लागू होने से पहले अपने घर निकलना चाहते थे। उन्हें पिछली बार की तरह लॉकडाउन में फंस जाने का डर है।दिल्ली के अलावा इलाहाबाद हाई कोर्ट के यूपी के पांच बड़े शहरों में लॉकडाउन का आदेश देने के बाद से लोग वापसी के लिए ज्यादा जल्दी मचाने लगे।दिल्ली में एक हफ्ते का लॉकडाउन लगाया गया है लेकिन मजदूरों को डर है कि यह लंबा चलेगा। ऐसे में बिना रोजगार वह राजधानी में फंसना नहीं चाहते। गाड़ियों की आवाजाही बंद होने के डर से वह जल्द से जल्द घर पहुंचना चाहते हैं।प्रवासी मजदूरों की यह भीड़ पिछले साल के पलायन की यादें ताजा करने लगी है, जब दिल्ली-मुंबई से मजदूर पैदल ही घर वापस जाने लगे थे।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.