Responsive Menu
Add more content here...
September 30, 2023
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • दिल्ली / एन सी आर
  • कोरोना से जंग में अब उतरेंगे मेडिकल इंटर्न, पीएम मोदी ने लिए कई अहम फैसले

कोरोना से जंग में अब उतरेंगे मेडिकल इंटर्न, पीएम मोदी ने लिए कई अहम फैसले

By Nikhil Pal on May 3, 2021
0 203 Views

नई दिल्ली(एजेंसी)-देश में कोरोना की दूसरी लहर से बिगड़े हालात को लेकर सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहम बैठक की।कोविड-19 से निपटने के लिए पर्याप्त मेडिकल स्टाफ की बढ़ती जरूरतों के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में कई अहम फैसले लिए गए। इसके तहत कोविड प्रबंधन में काम करने वाले स्टूडेंट्स या पेशेवरों को 100 दिनों का अनुभव होने के बाद आगे सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता दी जाएगी। 100 दिन के अनुभव के बाद ऐसे सभी चिकित्साकर्मियों को भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कोविड राष्ट्रीय सेवा सम्मान दिया जाएगा।

NEET PG परीक्षा स्थगित

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 से निपटने के लिए चिकित्साकर्मियों की उपलब्धता बढ़ाने संबंधी अहम फैसलों को आज अंतिम रूप दिया।एनईईटी- स्नातकोत्तर की परीक्षा को अगले चार महीने तक स्थगित करने के साथ ही चिकित्सा प्रशिक्षुओं को महामारी प्रबंधन कार्यों के लिए तैनात करने का फैसला लिया गया।कोविड से जुड़े कार्यों के लिए तैनात किए गए मेडिकल विद्यार्थियों व पेशेवरों को कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जाएगी। PMO के अनुसार, COVID-19 के लिए ड्यूटी के निर्वाह के 100 दिनों की अवधि पूरा करने वाले हेल्थवर्करों को नियमित सरकारी भर्तियों में प्राथमिकता दी जाएगी। इसमें यह भी कहा गया है कि B.Sc. व GNM क्वालिफाइड नर्स की टीम को भी सीनियर डॉक्टरों की निगरानी में कोविड नर्सिंग ड्यूटी के लिए तैनात किया जा सकता है। PMO ने कहा कि COVID कर्तव्यों के 100 दिनों को पूरा करने वाले चिकित्साकर्मियों को नियमित सरकारी भर्तियों में प्राथमिकता दी जाएगी। मेडिकल इंटर्न्स को उनकी फैकल्टी की देख-रेख में कोविड प्रबंधन कार्यों के लिए तैयार किया जाएगा।इस क्रम में कम से कम चार महीनों के लिए NEET-PG परीक्षा को स्थगित करने का ऐलान किया गया है ताकि महामारी की ड्यूटी के लिए हेल्थ वर्करों की कमी न हो और मेडिकल इंटर्न समेत क्वालिफाइड डॉक्टर बड़ी संख्या में उपलब्ध रहें। अब यह परीक्षा 31 अगस्त के बाद ही होगी।पीएमओ ने कहा कि MBBS के अंतिम वर्ष के छात्रों को भी हल्के लक्षणों वाले कोरोना केस के मॉनिटरिंग के लिए काम पर नियुक्त किया जाएगा। इस काम की देखरेख उनकी फैकल्टी करेगी। साथ ही कोविड ड्यूटी पर तैनात चिकित्सा कर्मी द्वारा 100 दिनों के कार्य को पूरा करने पर प्रधानमंत्री के कोविड राष्ट्रीय सेवा सम्मान से नवाजा जाएगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *