October 3, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • पूर्वांचल न्यूज
  • सिद्धार्थ विश्वविद्यालय में नियुक्ति, भाई मंत्री और नियुक्ति गरीब कोटे से, मामला हुआ सोशल मीडिया में वायरल

सिद्धार्थ विश्वविद्यालय में नियुक्ति, भाई मंत्री और नियुक्ति गरीब कोटे से, मामला हुआ सोशल मीडिया में वायरल

By Shakti Prakash Shrivastva on May 23, 2021
0 142 Views
शेयर न्यूज

सिद्धार्थ नगर,(संवाददाता)। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय, कपिलवस्तु में असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी के भाई की नियुक्ति इन दिनों सोशल मीडिया पर चर्चा में है। हो भी क्यों न मनोविज्ञान विभाग में हुई यह नियुक्ति आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य अभ्यर्थी कोटे में जो हुई है। मंत्री जिले की ही इटवा विधान सभा सीट से विधायक हैं।

प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी के भाई डॉ अरुण द्विवेदी की नियुक्ति विश्वविद्यालय के मनोविज्ञान विभाग में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर हुआ और उन्होने शुक्रवार को ज्वाइन भी कर लिया। इसके बाद से ही सोशल मीडिया पर उनके नियुक्ति का गरीब कोटे में होने की खबर वायरल होने लगे। प्रमाणपत्र फर्जी होगा तो दंड के भागी होंगे-कुलपति

कुलपति प्रो. सुरेंद्र दुबे का कहना है कि मनोविज्ञान में करीब डेढ़ सौ आवेदन आए थे। मेरिट के आधार पर 10 आवेदकों का चयन किया गया। इसमें अरुण कुमार पुत्र अयोध्या प्रसाद भी थे। इन्हीं 10 का इंटरव्यू हुआ तो अरुण दूसरे स्थान पर रहे। इंटरव्यू एकेडमिक व अन्य अंकों को जोड़ने पर अरुण पहले स्थान पर आ गए। इस वजह से इनका चयन हुआ है। डॉ दुबे का कहना है कि ईडब्ल्यूएस का प्रमाणपत्र प्रशासन जारी करता है। इनका शैक्षिक प्रमाणपत्र सही था। इंटरव्यू की वीडियो रिकार्डिंग भी उपलब्ध है।

सोशल मीडिया के माध्यम से मुझे भी इसकी जानकारी हुई है कि वह मंत्री के भाई हैं। अगर ईडब्ल्यूएस प्रमाणपत्र फर्जी होगा तो दंड के भागी होंगे। उधर मंत्री डॉ सतीश द्विवेदी ने इस पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.