October 2, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • बंगाल और असम में दूसरे चरण का मतदान 1 अप्रैल को, नंदीग्राम में ममता और सुवेंदु के बीच कड़ा मुकाबला

बंगाल और असम में दूसरे चरण का मतदान 1 अप्रैल को, नंदीग्राम में ममता और सुवेंदु के बीच कड़ा मुकाबला

By Purvanchalnama Desk on March 31, 2021
0 120 Views
शेयर न्यूज

नई दिल्ली(एजेंसी)- पश्चिम बंगाल और असम में एक अप्रैल यानी गुरुवार को विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का मतदान होगा। बंगाल में दूसरे चरण के तहत चार जिलों के 30 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान होना है जबकि असम में 39 निर्वाचन क्षेत्रों में वोटिंग होगी। इस चरण में बंगाल में 75,94,549 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करके 171 उम्मीदवारों का सियासी भविष्य तय करेंगे। इनमें 152 पुरुष उम्‍मीदवार जबकि केवल 19 महिला प्रत्‍याशी शामिल हैं। बंगाल में दूसरे चरण के लिए कुल 10,620 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। वहीं असम में दूसरे चरण के तहत 345 उम्मीदवारों का सियासी भविष्य ईवीएम में कैद होगा। इनमें 26 महिला उम्‍मीदवार शामिल हैं।

नंदीग्राम में सुरक्षा के कड़े इंतजाम

नंदीग्राम सिर्फ दूसरे चरण की नहीं, बल्कि इस पूरे विधानसभा चुनाव की सबसे हाट सीट है, जहां एक तरफ मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी हैं तो दूसरी तरफ तृणमूल छोड़कर भाजपा में शामिल हुए सुवेंदु अधिकारी। वहीं, माकपा ने यहां युवा महिला नेता मीनाक्षी मुखर्जी को उतारा है।दूसरे चरण के तहत हाई प्रोफाइल सीट नंदीग्राम में गुरुवार को वोटिंग होगी। इस संवेदनशील निर्वाचन क्षेत्र से ममता बनर्जी और शुभेंदु अधिकारी चुनाव लड़ रहे हैं। निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने बताया कि शांतिपूर्ण मतदान सुनिश्चित कराने के लिए नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी है। यही नहीं एक हेलीकॉप्टर से इलाके में निगरानी भी की जा रही है।निर्वाचन आयोग के अधिकारी ने कहा कि हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि कानून एवं व्यवस्था की स्थिति बिगड़े नहीं और लोग बिना किसी डर के मतदान कर सकें। इसलिए बाहर के लोगों को जो नंदीग्राम के मतदाता नहीं हैं उन्हें क्षेत्र में प्रवेश करने नहीं दिया जा रहा है। अकेले इस निर्वाचन क्षेत्र में केंद्रीय बलों की 22 टुकड़ियों को तैनात किया गया है। इसमें कुल 355 मतदान केंद्र हैं।बंगाल में दूसरे चरण का मतदान कितना अहम है, इसका अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि बुधवार सुबह से ही केंद्रीय बल के जवानों ने रूट मार्च शुरू कर दिया था। नंदीग्राम के 355 मतदान केंद्रों पर केंद्रीय बलों की 22 कंपनियां मुस्तैद रहेंगी। ड्रोन से भी कड़ी नजर रखी जाएगी। चुनाव आयोग पहले ही नंदीग्राम के सारे मतदान केंद्रों को संवेदनशील घोषित कर चुका है। नंदीग्राम के सभी प्रवेश व निकासी केंद्रों पर कड़ी नजर रखी जा रही है। नंदीग्राम में मतदान की पूरी प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी के कार्यालय में विशेष सेल भी खोला जा रहा है। नंदीग्राम के 267 मतदान केंद्रों पर वेब कास्टिंग की व्यवस्था की जाएगी। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद भी इस समय नंदीग्राम में डेरा डाले हुई हैं। गौरतलब है कि नंदीग्राम में कुल 2.75 लाख मतदाता हैं, जिनमें से 60 हजार अल्पसंख्यक समुदाय से हैं।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.