October 3, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और राजनाथ सिंह के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता

अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन और राजनाथ सिंह के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता

By Purvanchalnama Desk on March 20, 2021
0 173 Views
शेयर न्यूज

नई दिल्ली(एजेंसी)-अपनी तीन दिवसीय यात्रा के क्रम में भारत पहुंचे अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड जे ऑस्टिन (US Defense Secretary Lloyd James Austin) ने शुक्रवार को कहा कि दोनों देशों के बीच सहयोग की गहराई ‘व्यापक रक्षा साझेदारी’ के महत्व को दर्शाती है और वे हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सामने आने वाली चुनौतियों पर मिलकर काम कर सकते हैं।ऑस्टिन ने आज भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की। ऑस्टिन के भारत आने का उद्देश्य हिंद-प्रशांत सहित क्षेत्र में चीन की बढ़ती सैन्य आक्रमकता के मद्देनजर द्विपक्षीय रक्षा एवं सुरक्षा संबंधों को और मजबूत करना है। राजनाथ सिंह से मुलाकात से पहले ऑस्टिन को विज्ञान भवन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।

हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मिलकर करेंगे चुनौतियों का सामना-अमेरिकी रक्षा मंत्री

दिल्ली के विज्ञान भवन में भारत और अमेरिका के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता शुरू हो गई है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन विज्ञान भवन में प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता कर रहे हैं। इस बैठक में सीडीएस जनरल बिपिन रावत और तीनों सेना प्रमुख भी मौजूद हैं।इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने विज्ञान भवन में अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन की अगवानी की। अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन को विज्ञान भवन में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।ऑस्टिन की पहली विदेश यात्रा के दौरान तीन देशों के दौरे में भारत तीसरा पड़ाव है। उनकी इस यात्रा को (अमेरिकी राष्ट्रपति) जो बाइडन प्रशासन के अपने करीबी सहयोगियों और क्षेत्र में साझेदारों के साथ मजबूत प्रतिबद्धता के तौर पर देखा जा रहा है।ऑस्टिन ने शाम को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की थी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘यहां भारत में आकर रोमांचित हूं। हमारे दोनों देशों के बीच सहयोग की गहराई हमारी व्यापक रक्षा साझेदारी के महत्व को दर्शाती है और हम हिंद-प्रशांत क्षेत्र के सामने आने वाली चुनौतियों पर मिलकर काम कर सकते हैं।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.