October 3, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • Uncategorized
  • असम विधानसभा चुनाव: मतगणना के रुझानों में बीजेपी को बहुमत, कांग्रेस+ 51 सीटों पर आगे
May 2, 2021

असम विधानसभा चुनाव: मतगणना के रुझानों में बीजेपी को बहुमत, कांग्रेस+ 51 सीटों पर आगे

By 0 140 Views
शेयर न्यूज

नई दिल्ली(एजेंसी)- पांच राज्यों के साथ ही असम में विधानसभा चुनावों के लिए वोटों की गिनती चल रही है। शुरुआती रुझानों में यहां बीजेपी गठबंधन एक बार फिर से वापसी करता नजर आ रहा है। 110 सीटों के रुझान में एनडीए को 74और यूपीए को 51 व अन्य के खाते में 1 सीट पर बढ़त दिख रही है। राज्य में तीन चरणों में चुनाव कराए गए थे। राज्य में 126 विधानसभा सीटें हैं और इस समय बीजेपी की सरकार है। पार्टी ने चुनाव में पूरी ताकत झोंक दी थी। निर्वाचन आयोग के मुताबिक राज्य तीन चरणों में हुए चुनावों में कुल 82.04 फीसद मतदान दर्ज किया गया है।

बीजेपी को रुझानों में बढ़त

असम विधानसभा चुनाव के लिए तीन चरणों में मतदान हुआ था। पहले चरण का मतदान 27 मार्च, दूसरे चरण का एक अप्रैल और तीसरे व अंतिम चरण के लिए 06 अप्रैल को वोटिंग हुई थी। असम की 126 विधानसभा सीटों पर तीन चरणों में हुए चुनावों में कुल 82.04 फीसद मतदान दर्ज किया गया था। अंतिम चरण में सबसे अधिक 85.20 फीसद मतदान हुआ था। एक अप्रैल को दूसरे चरण में 80.96 फीसद जबकि पहले चरण में 79.33 फीसद मतदाताओं ने वोट डाले थे। इस चुनावी समर में कांग्रेस ने यूपीए का नेतृत्व किया और एनडीए ने राज्य में विकास का वादा किया। कांग्रेस ने सीएए का विरोध करते हुए राज्य में पांच गारंटी का वादा किया था और एनडीए ने अवैध घुसपैठ के मुद्दे पर चुनावी लड़ाई लड़ी थी। असम में तीन चरणों में मतदान हुआ।यहां मुख्य मुकाबला सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले एनडीए और कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए में है। राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री और भाजपा नेता सर्बानंद सोनोवाल पिछले पांच सालों से राज्य की सत्ता पर काबिज हैं। इससे पहले कांग्रेस कई सालों तक असम की सत्ता में रह चुकी है। पिछली बार साल 2016 में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा के खाते में 126 में से 86 सीट आई थीं। कांग्रेस को 26 सीटों पर ही जीत से संतोष करना पड़ा था। इसके अलावा, AIUDF को 13, एजीपी को 14, बीपीएफ को 12 और अन्य के खाते में एक सीट आई थी।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.