October 3, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • लखनऊ:अजीत सिंह हत्याकांड में पूर्व सांसद धनंजय सिंह की बढ़ी मुश्किल,अग्रिम जमानत की याचिका खारिज

लखनऊ:अजीत सिंह हत्याकांड में पूर्व सांसद धनंजय सिंह की बढ़ी मुश्किल,अग्रिम जमानत की याचिका खारिज

By Purvanchalnama Desk on April 12, 2021
0 152 Views
शेयर न्यूज

लखनऊ-उत्तर प्रदेश में मऊ जिले के गोहना के पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह हत्याकांड में साजिश रचने के आरोपी पूर्व सांसद धनंजय सिंह की मुश्किलें बढ़ गई है।सोमवार को हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने अग्रिम जमानत के साथ ही एफआईआर निरस्त करने की अर्जी खारिज कर दी है।धनंजय सिंह को आजमगढ़ में पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या के साजिशकर्ता के रूप में लखनऊ के विभूति खंड थाना में नामजद किया गया है। धनंजय सिंह को गिरफतार करने के प्रयास में पुलिस लगातार दबिश दे रही है, लेकिन एक पुराने मामले में वह जेल जाने के बाद जमानत पर बाहर है।

भगोड़ा घोषित कराने की तैयारी में पुलिस

अजीत सिंह हत्याकांड में इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने धनंजय सिंह की अग्रिम जमानत के साथ ही एफआइआर रद कराने की याचिका खारिज करने के साथ ही दो हफ्ते में बहुजन समाज पार्टी से जौनपुर से सांसद रहे धनंजय सिंह को सरेंडर करने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने कहा कि सरेंडर करने के बाद धनंजय सिंह जमानत के लिए याचिका दाखिल करें। हाई कोर्ट के इस फैसले के बाद अब लखनऊ के विभूति खंड थाने से धनंजय सिंह के साथ पांच अन्य लोगों के खिलाफ भगोड़ा घोषित करने की कारवाई की जाएगी।आजमगढ़ में 2013 में हुई पूर्व बसपा विधायक सर्वेश सिंह सीपू की हत्या का मुख्य गवाह अजीत सिंह था। अजीत सिंह की छह जनवरी को लखनऊ के विभूति खंड क्षेत्र में हत्या के मामले में साजिशकर्ता पूर्व सांसद धनंजय सिंह, उनके मददगार विपुल सिंह, प्रदीप सिंह कबूतरा, कुणाल कुमार व शूटर रवि यादव की तलाश की जा रही है। जौनपुर के पूर्व सांसद और बाहुबली धनंजय सिंह के खिलाफ इस केस में पुलिस ने 25000 रुपए का इनाम घोषित किया है। अब तो पुलिस धनंजय सिंह को भगोड़ा घोषित कराने की तैयारी में है। इसके अलावा पुलिस ने अजीत सिंह की हत्या के मामले में फरार चल रहे चारों आरोपियों की सम्पत्ति कुर्क करने की कवायद पुलिस ने शुरू कर दी है। दो दिन पहले ही इस मामले में नामजदगैंगस्टर सुनील राठी को वारंट बी पर पुलिस लखनऊ जेल लाएगी। पुलिस को सुनील राठी से अजीत सिंह हत्याकांड में कई अहम जानकारियां मिलने की उम्मीद है, इसके लिए कोर्ट में रिमांड की मांग भी होगी।बता दें कि लखनऊ में छह जनवरी को कठौता चौराहे पर मऊ के हिस्ट्रीशीटर अजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.