Responsive Menu
Add more content here...
July 21, 2024
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

लखनऊ के बड़ा इमामबाड़ा को कोविड अस्पताल बनाने की मौलाना कल्बे जव्वाद ने की पेशकश

By Nikhil Pal on April 24, 2021
0 301 Views

लखनऊ-देश में कोरोना के जारी कहर के बीच लखनऊ में बढ़ते नए मामलों ने संकट खड़ा कर दिया है।वही शिया धर्मगुरू मौलाना कल्बे जव्वाद ने सरकार के सामने बड़ा प्रस्ताव रखा है। मौलाना ने लखनऊ के बड़ा इमामबाड़ा को कोविड अस्पताल के रूप में परिवर्तित करने की पेशकश की है।मौलाना कल्बे जव्वाद ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार से लखनऊ के तारीखी बड़े इमामबाड़े कोविड अस्पताल बनाने की पेशकश की है। मौलाना जव्वाद ने कहा कि यह तो इबादतगाह है, लेकिन इंसान की जान बचाने से बड़ी इबादत कोई नहीं। अगर सरकार को लगता है कि कोविड अस्पताल बनाने के लिए इसका उपयोग हो सकता है तो वह इसका प्रयोग कर सकते हैं।

सीएम योगी से की पेशकश

लखनऊ के बड़े इमामबाड़े का प्रांगण काफी बड़ा है और यहां पर हजार बेड का कोविड अस्पताल बड़े आराम से बन सकती है। यह मेडिकल यूनिवर्सिटी के भी बेहद करीब है। मुख्य सड़क पर होने के कारण आवागमन भी बेहद ही आसान और सुलभ है। मौलाना जव्वाद ने कहा कि सरकार के हमारे इस प्रस्ताव को स्वीकार करने में जरा सा भी संकोच नहीं करना चाहिए। इससे पहले इमाम-ए-जुमा मौलाना कल्बे जवाद ने मुस्लिम समुदाय से अपील की है कि, इस बार जुमे की नमाज घरों में रहकर ही अदा करें। उन्होंने कहा कि, जुमे की नमाज कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते लोग अपने-अपने घरों में ही अदा करें। मौलाना कल्बे जवाद ने कहा कि, इस महीने में हम सब मिलकर गरीबों और मजलूमों की मदद करें। वहीं लखनऊ में शहर-ए-काजी मुफ्ती इरफान मियां फरंगी महली ने एक सवाल के जवाब में कहा कि सहरी के समय उठना और सहरी करना सुन्नत है ,अगर सहरी नहीं करते हैं तो रोजा़ हो जाएगा, लेकिन सुन्नत रह जाएगी।कोरोना के केस जिस तरह से बढ़ रहे हैं, उसे देखते हुए मौलानाओं ने लोगों से अपील की है कि, मस्जिदों में सीमित संख्या के साथ ही नमाज अदा करें। बता दें कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण अब प्रलयंकारी रूप दिखा रहा है। सूबे में बीते 24 घंटे में 199 लोगों की इसके संक्रमण के कारण मौत हो गई है। इसके साथ ही 24 घंटे की टेस्ट रिपोर्ट मिलने के बाद 37,238 नए संक्रमित भी मिल हैं। प्रदेश में ढाई लाख से अधिक एक्टिव केस हैं और करीब 70 प्रतिशत लोग होम आइसोलेशन में हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *