Responsive Menu
Add more content here...
February 21, 2024
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • विविधा
  • असम: नए CM के नाम पर सस्पेंस आज होगा खत्म, बीजेपी ने बुलाई विधायक दल की बैठक

असम: नए CM के नाम पर सस्पेंस आज होगा खत्म, बीजेपी ने बुलाई विधायक दल की बैठक

By Nikhil Pal on May 9, 2021
0 226 Views

नई दिल्ली(एजेंसी)- पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में चुनावी प्रक्रिया खत्म होने के बाद नई सरकार का गठन हो गया है, लेकिन असम में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिलने के बाद भी मामला अटका पड़ा है। नतीजे आने के एक हफ्ते बाद भी विधायक दल के नेता का ऐलान नहीं होने से मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की विदाई तय मानी जा रही है। हालांकि आज (रविवार) पार्टी ने विधायक दल की बैठक बुलाई है, जिसके बाद नए मुख्यमंत्री का नाम सामने आ सकता है।शनिवार को बीजेपी हाईकमान ने मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और हिमंत बिस्व सरमा को दिल्ली बुलाया था, जहां पर जेपी नड्डा, अमित शाह समेत कई वरिष्ठ नेताओं ने नए मुख्यमंत्री के नाम पर चर्चा की। सूत्रों के मुताबिक हिमंत बिस्व शर्मा का नाम अभी तक सीएम पद की रेस में सबसे आगे है।

हिमंत बिस्व शर्मा रेस में सबसे आगे

कई बैठकों के दौर के बाद सरमा ने बताया कि भाजपा विधायक दल की बैठक रविवार को गुवाहाटी में होने की संभावना है और अगली सरकार से संबंधित सभी सवालों के जवाब वहीं दिए जाएंगे।असम में विधायक दल के नेता के चुनाव के लिए भाजपा ने केंद्रीय पर्यवेक्षक के तौर पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पार्टी महासचिव अरुण सिंह को नामित किया है। इसके अलावा पार्टी के संसदीय बोर्ड ने तमिलनाडु विधानसभा में भाजपा विधायक दल के नेता के चुनाव के लिए केंद्रीय मंत्री जी. किशन रेड्डी को केंद्रीय पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।मालूम हो कि सर्बानंद सोनोवाल असम के सोनोवाल-कछारी आदिवासी समुदाय से ताल्लुक रखते हैं और हिमंता बिस्व सरमा असमी ब्राह्मण हैं जो पूर्वोत्तर लोकतांत्रिक गठबंधन के संयोजक हैं। सरमा पूर्व कांग्रेसी हैं जो 2015 में भाजपा में शामिल हुए थे। भाजपा ने इस बार चुनावों से पहले मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी की घोषणा नहीं की थी। जबकि 2016 का विधानसभा चुनाव भाजपा ने सोनोवाल को मुख्यमंत्री पद का प्रत्याशी घोषित करके लड़ा था और पार्टी ने पूर्वोत्तर में पहली बार सरकार बनाई थी।असम विधानसभा में कुल 126 सीटें हैं, जिसमें से 64 बहुमत का आंकड़ा है। इस बार भी बीजेपी ने राज्य में अच्छा प्रदर्शन करते हुए 60 सीटें हासिल कीं, जबकि उसकी गठबंधन सहयोगी असम गण परिषद से 9 और यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल ने 6 सीटें जीती हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *