Responsive Menu
Add more content here...
July 21, 2024
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • यूपी में नए सिरे से पाँव पसारेगी पुरानी शिवसेना

यूपी में नए सिरे से पाँव पसारेगी पुरानी शिवसेना

By Shakti Prakash Shrivastva on July 8, 2024
0 23 Views

                                                                                शक्ति प्रकाश श्रीवास्तव

लोकसभा चुनाव के नतीजे से जहां देश का समूचा विपक्ष उत्साहित है वही महाराष्ट्र में एक लंबे अरसे से जमी जमाई सियासी जमीन रखने वाली शिवसेना उसी उत्साह से उत्साहित होकर अब नए सिरे से अपना दायरा महाराष्ट्र के बाहर भी फैलाने के मूड में आ गई है। इस क्रम मे शिवसेना की नजर में उत्तर प्रदेश प्राथमिकता में है। हालांकि शिवसेना की मुताबिक सत्ता की साजिश के चलते उनकी पुरानी शिवसेना का न केवल चुनाव चिन्ह बदल दिया गया बल्कि उसका नाम भी शिवसेना से शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे कर दिया गया। लेकिन कहते हैं न कि सच को झूट की चादर से बहुत दिनों तक ढका नहीं रखा जा सकता है। सच्चाई सामने आ ही जाती है। शिवसेना के साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ। लोकसभा चुनाव के परिणाम ने यह साबित कर दिया कि नाम से भले ही एकनाथ शिंदे वाली शिवसेना को असली शिवसेना के रूप में मान्यता दे दी गई लेकिन मराठी जनता के जनमानस में जो भाव है उसने प्रमाणित कर दिया कि असली शिवसेना उद्धव ठाकरे वाली ही है। क्योंकि उद्धव की शिवसेना ने शिंदे की शिवसेना से अधिक लोकसभा सीटें जीती हैं।

उत्तर प्रदेश में शिवसेना का नए सिरे से जमीन बनाने की  कवायद के बाबत पार्टी सांसद संजय राउत का मानना है कि पार्टी ने यह तय किया है कि उत्तर प्रदेश में नए सिरे से पार्टी को पहचान दी जाए। पूरी ऊर्जा और उत्साह के साथ यहाँ सूबे की समस्याओं को उठाते हुए पार्टी अपनी जमीन तैयार करेगी। उन्होंने कहा कि देश की जनता का बीजेपी से मोह भंग हो चुका है। इसका प्रमाण जनता ने लोक्सभा चुनाव में दे दिया है। इस बार लोकसभा में सबसे बड़ी पार्टी होने के बावजूद अकेले दम पर बहुमत के आँकड़े से काफी पीछे रह गई बीजेपी। जबकि पिछले दो चुनावों में अकेले बहुमत हासिल किया था। देश में बढती मंहगाई और बेरोजगारी सरीखी समस्याओं ने भी आम जनता को बीजेपी से दूर कर दिया था। श्री राऊत की मुताबिक यही वजह है कि महाराष्ट्र में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव में शिवसेना (उद्धव बालासाहब ठाकरे) की ही जीत होगी। उसी की या उसके गठबंधन की सरकार बनेगी।

श्री राऊत ने ये बातें रविवार को अपने दो दिवसीय यूपी दौरे पर वाराणसी पहुंचने के दौरान दी। उन्होंने यह भी कहा कि काशी आना किसी पुण्य से कम नहीं। मैं खुद को सौभाग्यशाली मानता हूं कि आज मैं इस अद्भुत,अविस्मरणीय पल का साक्षी बना, लेकिन आज मैंने काशी आते समय देखा कि इस पौराणिक नगरी का जिस तरह से ऐतिहासिक स्वरूप को संरक्षित करते हुए विकास किया जाना चाहिए था, वैसा काम यहां नहीं हुआ। उन्होंने यह भी कहा कि क्योटो का सपना दिखाने वालों ने काशी और मां गंगा दोनों के साथ छल किया। काशी और अयोध्या दोनों प्राचीन आध्यात्मिक और पौराणिक नगरी आज ठगी हुई सी महसूस कर रही हैं। विकास के नाम पर अरबों खरबों का वारा न्यारा हो गया पर यहां की मूलभूत समस्याएं जस की तस बनी हैं। मात्र एक बारिश ने सारे देश को इनकी हकीकत बता दी।

 

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *