September 27, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • बिहार / झारखंड
  • तिहाड़ जेल में सज़ा काट रहे पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की कोरोना से मौत,दिल्ली के अस्पताल में थे भर्ती

तिहाड़ जेल में सज़ा काट रहे पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की कोरोना से मौत,दिल्ली के अस्पताल में थे भर्ती

By Purvanchalnama Desk on May 1, 2021
0 244 Views
शेयर न्यूज

नई दिल्ली(एजेंसी)- बिहार के बाहुबली और RJD के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की मौत हो गई है। हत्या के मामले में वह तिहाड़ जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे थे। इस बीच 20 अप्रैल को उनकी हालत अचानक बिगड़ने लगी। जांच कराने पर वह कोरोना संक्रमित पाए गए थे।तिहाड़ जेल महानिदेशक संदीप गोयल ने बताया, ‘दिल्ली जेल के कैदी मोहम्मद शहाबुद्दीन की मृत्यु के बारे में डीडीयू अस्पताल से सूचना मिली है।वह कोविड-19 से पीड़ित थे और उन्हें 20 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। ’जेल अधिकारियों ने बताया कि उन्हें दो-तीन दिन पहले अस्पताल के ICU में भर्ती कराया गया था,जहां उनकी मौत हो गयी।

दिल्ली के अस्पताल में थे भर्ती

दरअसल तिहाड़ जेल प्रशासन को बिहार के बाहुबली और RJD के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के कोरोना संक्रमित होने का पता तब लगा जब, 20 अप्रैल को उनकी हालत अचानक बिगड़ने लगी। जिस तरह के शरीर में लक्षण नजर आए, उसके मद्देनजर कोरोना संक्रमण की जांच कराई गई। रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही शहाबुद्दीन को तुरंत तिहाड़ जेल के चिकित्सकों की निगरानी में दे दिया गया।इसके बाद भी शहाबुद्दीन की हालत नहीं सुधरी और उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट करना पड़ा। कल से ही उनकी तबीयत और बिगड़ने लगी और आज यानि 1 मई को शहाबुद्दीन ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल (डीडीयू) आधिकारिक जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना वायरस संक्रमित मोहम्मद शहाबुद्दीन 20 अप्रैल से इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती थे। शनिवार को उनका निधन हो गया। इससे पहले इलाज के लिए भर्ती बिहार के सिवान लोकसभा से पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन के बारे में कहा जा रहा था कि कोरोना संक्रमण के चलते फिलहाल उनकी हालत बेहद गंभीर है, लेकिन अब उनका निधन हो गया।बता दें कि 10 मई 1967 को बिहार में जन्में मोहम्मद शहाबुद्दीन का अपराध से बेहद गहरा नाता रहा था। बावजूद वह राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख नेताओं में से एक रहे थे। इतना ही नहीं, राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया लालू प्रसाद यादव के करीबी माने जाते थे। यहां पर यह बताना जरूरी है कि 30 अगस्त 2017 को पटना उच्च न्यायालय ने सिवान हत्या के मामले में मोहम्मद शहाबुद्दीन की सजा को बरकरार रखा था। इसके बाद वह लगातार जेल की सलाखों के पीछे रहे थे।बाहुबली शहाबुद्दीन को सिवान के लोग खौफनाक तेजाब कांड को लेकर भी याद करते हैं।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.