October 3, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

सीएम योगी ने महोबा और चित्रकूट मे बांध परियोजनाओं का किया निरीक्षण व लोकार्पण

By Purvanchalnama Desk on March 10, 2021
0 114 Views
शेयर न्यूज

 

लखनऊ-यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुंदेलखंड के महोबा जिले में लहचूरा बांध पहुंचकर अर्जुन सहायक परियोजना का निरीक्षण कर आधिकारियों से वार्ता की। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में पेयजल का काम चल रहा है, उसमें प्रशासन प्लंबरिंग ट्रेड के युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराएं।इसके बाद सीएम चित्रकूट पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री ने बांध का हवाई निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने रसिन बांध में विधिवत पूजा-अर्चन कर लोकार्पण किया।मुख्यमंत्री ने 140.20 करोड़ लागत से बने रसिन बांध परियोजना का लोकार्पण किया। इस परियोजना से क्षेत्र के 17 गांवों में 3635 किसानों को 2290 हेक्टेयर रकबे की सिंचाई के लिए पानी मिलेगा।

सीएम ने सभा को किया संबोधित

सीएम योगी ने अपने संबोधन में कृषि कानूनों को लेकर भ्रम फैलाने वालों पर जमकर निशाना साधा। कहा कि किसानों को गुमराह वे लोग कर रहे हैं, जिन्हें उनके चेहरे पर खुशहाली अच्छी नहीं लगती है। आज दुनिया को भारत की ताकत पर भरोसा है। वैश्विक मंच पर प्रधानमंत्री के कार्यों को सम्मान मिलता है। जो लोग कहते हैं कि मोदी योगी ने किसानों के लिए क्या किया, उन्हें जवाब दें कि जो काम आजादी बाद नहीं हुए उन्हें हमने करा। रसिन बांध, अर्जुन सहायक व चिल्लीमल पंप कैनाल जैसी परियोजना 1970 में बनी थी लेकिन वर्षों से लंबित थी। इन्हें हमारी सरकार ने पूरा किया है।मुख्यमंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर चित्रकूट बने ये हमारी प्राथमिकता है, किसानों को जो गुमराह कर रहे हैं, वह बताएं किसानों के लिए क्या किया। रसिन बांध और चिल्लीमल परियोजना को अन्य सरकारें जानबूझकर सफल नहीं होने दे रही थीं, योजनाओं को सफल करने के लिए पैसा ही नहीं दिया। विपक्षी दल किसानों के कंधों पर बंदूक रखकर भारत के विकास को अवरुद्ध कर रहे हैं। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे चिल्लीमल और रसिन बांध आदि परियोजना विकास का आधार बनेंगी। वर्ष 2022 तक हर परिवार को एक-एक घर देंगे। बुंदेलखंड से पलायन करने वाले मजदूरों और विदेश में रोजगार के लिए जाने वाले उनके युवा बेटों के परिवारों का प्रदेश सरकार दो लाख रुपये का जीवन बीमा और पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा करेगी।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.