October 4, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • पूर्वांचल न्यूज
  • कोरोना से जंग:गोरखपुर के सरकारी अस्पतालों में पहुंची रेमडेसिविर, आज बाजार में आएगी

कोरोना से जंग:गोरखपुर के सरकारी अस्पतालों में पहुंची रेमडेसिविर, आज बाजार में आएगी

By Purvanchalnama Desk on April 20, 2021
0 118 Views
शेयर न्यूज

गोरखपुर-कोरोना संक्रमण को कम करने में इस्तेमाल होने वाली रेमडेसिविर की आपूर्ति अब गोरखपुर में बढ़ाई जाएगी। स्वास्थ्य विभाग ने बाबा राघवदास मेडिकल कालेज को 150 और टीबी अस्पताल को 50 वायल रेमडेसिविर उपलब्ध करा दिया है। थोक दवा मंडी भालोटिया मार्केट में मंगलवार को दो सौ से ज्यादा वायल आने की उम्मीद है। दवा विक्रेताओं का कहना है कि इस सप्ताह रेमडेसिविर की आपूर्ति और बढ़ जाएगी। इससे मरीजों के स्वजन को परेशान नहीं होना पड़ेगा।

रेमडेसिविर की कमी से हो रही परेशानी

रेमडेसिविर का हर तरफ संकट खड़ा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश सरकार ने गुजरात से रेमडेसिविर मंगाई थी। इसे अलग-अलग जिलों में भी भेजा गया है। सीएमओ डा. सुधाकर पांडेय ने बताया कि बीआरडी मेडिकल कालेज को 150 और टीबी अस्पताल को 50 वायल दिया जा चुका है। सभी डाक्टरों से कहा गया है कि जरूरत होने पर ही मरीज पर इसका इस्तेमाल करें।कोरोना संक्रमण के कारण आ रही खांसी पर ज्यादा असरदार साबित हो रही फेविपिराविर दवा मंगलवार से बुधवार तक भालोटिया मार्केट में पर्याप्त मात्रा में पहुंचने की उम्मीद है। दवा विक्रेता समिति के अध्यक्ष योगेंद्र नाथ दुबे और केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के महामंत्री दिलीप सिंह ने बताया कि बाजार में एक हजार से ज्यादा पत्ता दवा आ रही है। फेविपिराविर 200 मिलीग्राम के एक पत्ते में 34 गोली, 400 मिलीग्राम के एक पत्ते में 17 और 800 मिलीग्राम के एक पत्ते में छह गोली रहती है। पिछले साल के मुकाबले कंपनियों ने इसका रेट भी कम किया है।वही दूसरी ओर ललित नारायण मिश्र केंद्रीय रेलवे अस्पताल में रेलकर्मियों और उनके स्वजन के लिए 25 बेड का लेवल टू कोविड सेंटर बनाया जाएगा। तैयारी शुरू हो गई है। एक से दो दिन में रेलकर्मियों और उनके स्वजन को कोविड सेंटर का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। संक्रमित लोगों का रेलवे अस्पताल में ही इलाज शुरू हो जाएगा। गंभीर होने पर ही उन्हें बीआरडी मेडिकल कालेज रेफर किया जाएगा। कोविड सेंटर में संक्रमित मरीजों की देखभाल के लिए अतिरिक्त पैरामेडिकल स्टाफ तैयार किए जाएंगे। रेलवे प्रशासन ने मानदेय के आधार पर पैरामेडिकल स्टाफ की तैनाती की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है।कोविड की चुनौतियों से निपटने के लिए पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक विनय कुमार त्रिपाठी ने समस्त प्रमुख विभागाध्यक्षों, प्रमुख चिकित्सा निदेशकों और मंडल रेल प्रबंधकों के साथ वर्चुअल बैठक की। महाप्रबंधक ने यात्रियों से अनिवार्य रूप से फेसमास्क लगाने, शारीरिक दूरी बनाए रखने तथा अपने हाथों को स्वच्छ रखने की अपील की है।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published.