February 5, 2023
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • पूर्वांचल न्यूज
  • यूपी पंचायत चुनाव:अयोध्या, मथुरा और काशी में भाजपा को लगा झटका, सपा ने मारी बाजी

यूपी पंचायत चुनाव:अयोध्या, मथुरा और काशी में भाजपा को लगा झटका, सपा ने मारी बाजी

By Purvanchalnama Desk on May 4, 2021
0 139 Views

लखनऊ-उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव के नतीजों में बीजेपी को सियासी तौर पर बड़ा झटका लगा है। अयोध्या से लेकर मथुरा और काशी सहित प्रदेश के कई जिलों में सपा ने दावा किया है कि बीजेपी को उसने करारी मात दी है। हालांकि, बीजेपी की ओर से भी सोमवार को ही दावा किया गया है कि यूपी पंचायत चुनाव में सबसे ज्यादा सीटें जीतकर नंबर वन पर है।अयोध्या में बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ रहा है। अयोध्या जनपद में कुल जिला पंचायत सदस्य की 40 सीटें हैं, जिनमें से 24 सीटों पर समाजवादी पार्टी ने जीत दर्ज करने का दावा किया है।

वाराणसी में भी बीजेपी हारी

अयोध्या में ज़िला पंचायत के चुनाव में अखिलेश यादव के समाजवादी पार्टी को शानदार जीत मिली है।40 में से 24 सीटें उनके खाते में गईं। बीजेपी को बस 6 सीटें मिली। मायावती की पार्टी ने 5 पर जीत दर्ज की। बता दें कि उत्तर प्रदेश में हुए पंचायत चुनावों के पूरे नतीजे अभी तक नहीं आए हैं। आज भी इनके लिए गिनती चल रही है। 3050 जिला पंचायतों में से 702 पर बीजेपी आगे चल रही है। सपा 504 पर, तो बसपा 132 पर बढ़त लिए है।वहीं, कांग्रेस 62 सीटों के साथ आगे है, जबकि अन्य 608 के साथ आगे बढ़ रहे हैं। हालांकि ये सूत्रीय आंकड़े हैं और निर्वाचन आयोग ने अभी आंकड़े जारी नहीं किए हैं।वहीं, पीएम के गढ़ वाराणसी में बीजेपी को बड़ा झटका लगा है।त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है।जिला पंचायत के 40 सीटों में से बीजेपी के खाते में महज 8 सीटें आईं हैं। वहीं 14 सीटों पर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जीते हैं। वहीं बसपा ने 5,अपना दल एस को 3 सुभासपा और आमआदमी पार्टी को 1 सीट मिली है।इसी तरह कान्हा की नगरी मथुरा में भी बीजेपी को करारी हार का सामना करना पड़ा है। यहां मायावती की बीएसपी ने 12 और चौधरी अजीत सिंह की राष्ट्रीय लोकदल ने 9 सीटों पर परचम लहराया है। बीजेपी की झोली में 8 सीटें आईं। वहीं सपा ने एक सीट मात्र से अपना खाता ही खोला। कांग्रेस का खाता तक नहीं खुल सका और 3 निर्दलीय प्रत्याशी जीत गए। इस बेल्ट के किसानों ने भी कृषि आंदोलन के विरोध में प्रदर्शन किया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *