August 16, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • महाराष्ट्र
  • राष्ट्रपति पद के लिए मुर्मू : एनडीए ने लगाई विपक्षी एकता में सेंध, ममता को दिया झटका

राष्ट्रपति पद के लिए मुर्मू : एनडीए ने लगाई विपक्षी एकता में सेंध, ममता को दिया झटका

By Shakti Prakash Shrivastva on June 22, 2022
0 37 Views
शेयर न्यूज

शक्ति प्रकाश श्रीवास्तव

एनडीए ने राष्ट्रपति पद के लिए झारखंड की राज्यपाल रह चुकी आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू को अपना उम्मीदवार बनाकर न केवल विपक्ष की एकजुटता में सेंध लगाई है बल्कि इस चुनाव के जरिए अपनी राज्यीय पार्टी को राष्ट्रीय फलक देने के प्रयास में लगी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को करारा झटका दिया है। एनडीए में खासकर बीजेपी ने मुर्मू के नाम का प्रस्ताव कर ऐसा पासा फेंका है जिसमें कितने ही गैर एनडीए पार्टियां भी मुर्मू के नाम का समर्थन करने को मजबूर हो गई हैं। विपक्षी दलों में उम्मीदवारी के लिए सहमति बनाने के लिए 15 जून को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा जब बैठक बुलाई गई तो आम आदमी पार्टी, वाइएसआर कांग्रेस, टीआरएस, बीजद, शिरोमणि अकाली दल, बीएसपी, एआईएमआईएम और टीडीपी जैसे दलों ने अपने को बैठक से दूर रखा। यहाँ तक की यूपीए गठबंधन में शामिल शिवसेना का भी कोई बड़ा नेता बैठक में नही पहुंचा। अपने मुद्दों में उलझी कांग्रेस ने भी खास उत्साह नहीं दिखाया। लिहाजा विपक्षी एकता की हवा बनने से पहले ही निकल गई। सूत्रों की मुताबिक ममता की अगुवाई को कई दलों ने स्वीकार नहीं किया। क्योंकि प्रदेश से निकल कर देश में अपनी फिजाँ बनाने के ममता की तरह आम आदमी पार्टी, वाईएसआर कांग्रेस और टीआरएस का भी सपना है। हालांकि विपक्ष ने टीएमसी के राज्यसभा सांसद यशवंत सिन्हा को अपना उम्मीदवार घोषित किया है। लेकिन जिस तरह घोषणा वाली बैठक में बुलाए गए 22 घटक दलों में से महज 17 का पहुंचना ही विपक्ष की एकता की कहानी बयां करता है। विपक्ष ने पहले शरद पवार, फारुख अब्दुल्ला, एच डी देवेगौड़ा और गोपाल कृष्ण गांधी के नाम पर सहमति बनाने की कोशिश की लेकिन इन सभी ने एक-एक कर अपनी अनिच्छा जाहिर कर दी। लिहाजा मजबूरी में आया नाम यशवंत सिन्हा की कमजोरी शुरू से ही दिखने लगी। क्योंकि उनकी उम्मीदवारी को प्रोत्साहित करने के बजाय अधिकांश विपक्षी दल मुर्मू को ही बधाई दे रहे हैं।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *