July 6, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • पूर्वांचल न्यूज
  • अयोध्या में राम मंदिर निर्माण : मुख्यमंत्री योगी ने रखी गर्भगृह की पहली शिला

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण : मुख्यमंत्री योगी ने रखी गर्भगृह की पहली शिला

By Shakti Prakash Shrivastva on June 1, 2022
0 13 Views
शेयर न्यूज

पूर्वाञ्चलनामा ब्यूरो

हिन्दू जनमानस की आस्था के प्रतीक मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की नगरी अयोध्या में बुधवार को उत्सव जैसा माहौल दिखा। यूं तो श्रीराम मंदिर निर्माण के शुरुआती दिनों से लेकर आज तक अयोध्या कभी शांत व उदास नहीं दिखी। वहाँ की गलियाँ, मंदिर व घाट हर दिन हर पल उल्लसित रहते हैं। हों भी क्यूँ न जहां त्रेता युगीन श्री राम एक बार फिर कलियुग में एक भव्य मंदिर में विराजमान होने जा रहे हैं। बुधवार को अयोध्या में विशेष उल्लास का कारण श्रीराम मंदिर के गर्भगृह का आज विधिवत पूजन-अर्चना के साथ शिलान्यास सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में गर्भगृह के लिए पहली शिला सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रखी। इस अवसर विशेष पर रामभक्तों का उत्साह देखने लायक था। कार्यक्रम की शुरुआत में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामजन्मभूमि के परिसर में प्रवेश करते ही सबसे पहले भगवान श्री रामलला की आरती उतारी। इसके बाद सीएम योगी निर्माणाधीन गर्भगृह स्थल पर वैदिक आचार्यों द्वारा किए जा रहे अनुष्ठान में शामिल हुए। सीएम योगी ने श्रीराम लला के भव्य घर के निर्माण में लगने वाली पहली नक्काशीदार शिला को विधिवत वैदिक मंत्रोच्चारण के बाद स्थापित किया। बता दें इससे पहले पांच अगस्त 2020 को पीएम नरेंद्र मोदी ने मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया था। योगी आदित्यनाथ द्वारा राम मंदिर का पहला पिलर स्थापित करते ही वहां पर बैठे लोगों ने जय श्रीराम के नारे लगाने शुरू कर दिए। मुख्य अतिथि के रूप में पहुंचे संतों-महंतों ने कहा कि यह दिन देखने के लिए कितनी पीढ़ियां कुर्बान हो गई हैं। आज हम लोगों का सौभाग्य है कि इस पल को अपनी आंखों से देख पा रहे हैं। हनुमानगढ़ी के मुख्य पुजारी रमेश दास कहते हैं कि जिस तरह से भगवान राम अयोध्या छोड़ कर 14 वर्ष के लिए वनवास चले गए थे और अयोध्यावासी उदास थे उनके लौटने के बाद जिस तरह की खुशी अयोध्या वासियों में दिखी थी, कुछ इस तरह की खुशी आज लोगों में दिख रही है।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *