May 17, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • रिकार्ड : साइबर क्राइम की सर्वाधिक घटनायें यूपी में, देश में अव्वल

रिकार्ड : साइबर क्राइम की सर्वाधिक घटनायें यूपी में, देश में अव्वल

By Shakti Prakash Shrivastva on September 19, 2021
0 92 Views
शेयर न्यूज

लखनऊ,(मुख्य संवाददाता)। कोरोना महामारी के दौर में जिस तरह देश के कई प्रदेशों में हालात दिखे वो चिंताजनक है। कम से कम उत्तर प्रदेश जैसे अधिक आबादी वाले प्रदेश में वैसे हालात नहीं बनने पाये। ये सुखद है। कोरोना टेस्टिंग का मामला हो या ट्रीटमेंट का या हो टीकाकरण का सभी में प्रदेश ने अपना रिकार्ड बनाया। हाल में जारी हुए राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकड़ों ने प्रमाणित किया कि उत्तर प्रदेश साइबर क्राइम के मामले में भी देश में अव्वल है। संस्था की मुताबिक देश भर में 2020 में साइबर से जुड़े अपराध के 50,035 मामले दर्ज किए गए। देश में साइबर अपराध के सबसे ज्यादा 11,097 मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज हुए। वहीं दूसरे नंबर पर 10,741 कर्नाटक और तीसरे नंबर पर 5496 महाराष्ट्र में दर्ज हुए। हालांकि साइबर अपराध की दर सबसे ज्यादा कर्नाटक में 16.2 फीसदी है। जबकि उत्तर प्रदेश में 4.8 फीसदी और महाराष्ट्र में यह दर 4.4 फीसदी है।

2019 में साइबर अपराध की संख्या 44,735 थी। दूसरी तरफ कहें तो यूपी में साइबर अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए योगी सरकार ने साइबर फ्रॉड के साथ सोशल मीडिया पर झूठी सूचनाएं और अफवाह फैलाने वालों पर बड़ी कार्रवाई की है। यूपी में 11 हजार मुकदमें दर्ज कर 35 हजार आपत्तिजनक पर यूपी पुलिस ने साइबर अपराध से जुड़े 2020 में 11097 मामले दर्ज किए। वहीं 2019 में 11416 मामले दर्ज किए गए थे। 2020 में साइबर अपराधियों पर लगाम लगाते हुए 35 हजार से ज्यादा पोस्ट के खिलाफ संबंधित कंपनी को कार्रवाई के लिए रिपोर्ट किया और करीब 150 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा। वहीं लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर 889 मुकदमे दर्ज किए गए, इनमें से 225 मुकदमे अफवाह या भ्रामक सूचना से संबंधित टिप्पणी, 454 मुकदमे सांप्रदायिक सद्भाव को प्रभावित करने वाली टिप्पणी और 210 मुकदमे अन्य विभिन्न प्रकार की टिप्पणियों के बारे में भी किए गए। प्रदेश में सीएए को लेकर सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्मों पर आपत्तिजनक, भ्रामक पोस्ट और वीडियो भेजने वालों के खिलाफ (2019 में 10 से 27 दिसंबर) के बीच 95 मुकदमे दर्ज कर 120 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं 21,388 आपत्तिजनक सोशल मीडिया पोस्ट के ऊपर कार्रवाई के लिए संबंधित सोशल मीडिया कंपनी को पत्र लिखे गए। नवम्बर 2019 में सुप्रीम कोर्ट के श्रीराम जन्मभूमि के फैसले के बाद सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी होने लगी। इसके चलते पुलिस ने प्रदेश भर में सिर्फ पांच दिनों में टिप्पणी करने वालों पर 78 मुकदमे दर्ज किए। वहीं 14,380 सोशल मीडिया पोस्ट पर कार्रवाई के लिए संबंधित कम्पनी को पत्र लिखा गया। पुलिस को सोशल मीडिया पर चार सालों में 29.25 लाख शिकायतें मिली। जिनमें से कार्रवाई लायक 6.25 लाख शिकायत थीं। जिनके ऊपर कार्रवाई की गई। वहीं थानों में शिकायतों की हीलाहवाली करने पर 14,462 FIR सोशल मीडिया के माध्यम से दर्ज कराई गईं।

 


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *