July 27, 2021
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • बिहार / झारखंड
  • पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की मौत पर छिड़ा विवाद, कोरोना संक्रमित होने पर उठा सवाल

पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की मौत पर छिड़ा विवाद, कोरोना संक्रमित होने पर उठा सवाल

By Purvanchalnama Desk on May 3, 2021
0 32 Views
शेयर न्यूज

पटना– बिहार की सिवान लोकसभा सीट से पूर्व सांसद और कई संगीन मामलों के अभियुक्‍त शहाबुद्दीन की मौत को लेकर सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। उनकी मौत को लेकर राजनीति तो शुरू हो ही गई है, इंटरनेट मीडिया पर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं। इस बीच पूर्व सांसद से जुड़े कुछ लोगों ने दावा किया है कि वे लोग आज पूरे मामले पर अपना पक्ष रखेंगे। बिहार में लालू प्रसाद यादव की पार्टी राजद और जीतन राम मांझी की पार्टी हम ने पूर्व सांसद की मौत को लेकर सरकार पर हमला बोला है। इंटरनेट मीडिया पर तो शहाबुद्दीन की हत्‍या किए जाने तक की अफवाह उड़ाने की साजिश खुलेआम हो रही है, लेकिन प्रशासन और सरकार की नजर शायद इस पर नहीं है।

AIIMS में भर्ती नही कराने पर सवाल

पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के मामले में राजद नेताओं ने कहा कि 21 अप्रैल को पॉजिटिव पाए जाने के बाद भी उन्हें सामान्य स्तर की चिकित्सा उपलब्ध कराई गई। स्थिति बिगडऩे पर दिल्ली के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल में भर्ती कराया गया। तीन दिन पहले ही दिल्ली हाईकोर्ट ने इलाज के दौरान स्वजनों से मिलवाने का निर्देश जेल प्रशासन को दिया था। फिर भी जेल प्रशासन ने उन्हें दिल्ली एम्स में भर्ती नहीं कराया। स्वजन भी उन्हें एम्स में ही भर्ती कराना चाह रहे थे। एजाज अहमद ने कहा कि पूर्व सांसद जेल में कैसे संक्रमित हुए, यह भी स्पष्ट होना चाहिए और दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।राजद के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. तनवीर हसन, प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन, मृत्युंजय तिवारी, एजाज अहमद, प्रदेश महासचिव विनोद यादव, डॉ. प्रेम गुप्ता एवं प्रमोद कुमार सिन्हा ने कहा कि दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद तिहाड जेल प्रशासन ने उनके इलाज में गंभीरता नहीं दिखाई।इंटरनेट मीडिया खासकर ट्वटिर पर शहाबुद्दीन की मौत को लेकर तरह-तरह की अफवाहें और चर्चाएं चल रही हैं। कहा जा रहा है कि जानबूझ कर पूर्व सांसद को एम्‍स की बजाय मामूली अस्‍पताल में भर्ती कराया गया। जेल के वार्ड में अकेले रहते हुए सांसद के कोरोना संक्रमित होने पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। कई लोग तो यहां तक दावा कर रहे हैं कि सांसद को कोरोना हुआ ही नहीं था। वही बिहार में एनडीए के सहयोगी पूर्व मुख्‍यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हम के प्रवक्‍ता दानिश रिजवान ने भी शहाबुद्दीन की मौत पर अफसोस जताया था। उन्‍होंने कहा था कि पूर्व सांसद के बेहतर इलाज की व्‍यवस्‍था नहीं की गई। तिहाड़ जेल प्रशासन और पूर्व सांसद का इलाज करने वाले दिल्‍ली के दीनदयाल अस्‍पताल ने उनके कोरोना से संक्रमित होने की पुष्‍ट‍ि की थी।आखिर में उन्‍हें वेंटिलेटर पर रखा गया था, लेकिन उन्‍हें बचाया नहीं जा सका।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *