June 30, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • बिहार / झारखंड
  • कोरोना को लेकर बिहार में नई गाइड लाइन,नाईट कर्फ्यू लगाने का फैसला

कोरोना को लेकर बिहार में नई गाइड लाइन,नाईट कर्फ्यू लगाने का फैसला

By Purvanchalnama Desk on April 18, 2021
0 78 Views
शेयर न्यूज

पटना-बिहार में कोरोना वायरस की दूसरी लहर बड़ी तेजी से फ़ैल रही है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर राज्य सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। नीतीश सरकार ने राज्य में नाईट कर्फ्यू लगाने का एलान कर दिया है।सर्वदलीय बैठक और क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया है।राज्य में 15 मई तक सभी शिक्षण संस्थान को बंद रखने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री ने इसे सख्ती के साथ लागू करने का निर्देश सभी जिलों के प्रशासनिक और पुलिस टीम को दिया है।

15 मई तक बंद रहेंगे स्कूल-कॉलेज

मुख्‍यमंत्री ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए डेडिकेटेड कोविड अस्‍पताल बनाने का फैसला किया गया है। साथ ही होम आइसोलशन में रहने वाले संक्रमितों के इलाज की भी पार्याप्‍त व्‍यवस्‍था की जाएगी। उन्‍होंने बाहर रहने वालों से भी जन्‍दी वापस लौटने की अपील की। सरकार ने कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम को लिए नई गाइडलाइन (New COVID Guideline) बना ली है।बिहार में कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने विभिन्‍न विभागों के साथ हाई लेवल बैठक की। इसमें समीक्षा कर शनिवार को राज्‍यपाल की अध्‍यक्षता में आयोजित सर्वदलीय बैठक में सरकार ने हालात की जानकारी दी तथा नियंत्रण के लिए सभी दलों से उनके विचार जाने। बैठक के बाद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने रविवार को सभी जिलो के डीएम और एसपी के साथ बैठक की। रविवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद मुख्‍यमंत्री ने नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया।वही कोरोनावायरस संक्रमण का कंटेनमेंट जोन (Containment Zone) बनाकर लोगों को बचाया जाएगा। कंटेनमेंट जोन में पूर्ण लॉकडाउन जैसे प्रावधान लागू किए जा सकते हैं।बैंक, एटीएम, डाकघर व रसोई गैस की दुकान व पेट्रोल पंप आदि खुले रहेंगे। अस्‍पताल व फायर ब्रिगेड जैसी आपातकालीन सेवाएं भी जारी रहेंगी। पुलिस व सुरक्षा बल ड्यूटी पर मुस्‍तैद रहेंगे। सरकारी व निजी संस्थानों की बात करें तो वे पांच बजे शाम तक खुले रहेंगे। आवश्‍यक सेवाओं से जुड़े संस्‍थानों व कार्यालयों को इसमें छूट दी जा सकती है।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *