June 30, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • पश्चिम बंगाल में बिहार के थानेदार शहीद,छापा मारने गए किशनगंज के इंस्‍पेक्‍टर को भीड़ ने घेरकर मार डाला

पश्चिम बंगाल में बिहार के थानेदार शहीद,छापा मारने गए किशनगंज के इंस्‍पेक्‍टर को भीड़ ने घेरकर मार डाला

By Purvanchalnama Desk on April 10, 2021
0 114 Views
शेयर न्यूज

किशनगंज-पश्चिम बंगाल में बिहार के एक थानेदार की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। बिहार के किशनगंज जिले के थानेदार अश्विनी कुमार अपनी टीम के साथ बाइक चोरी के एक मामले में छापेमारी के लिए बिहार की सीमा से सटे बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले में गए थे। 8-9 अप्रैल की रात को स्थानीय लोगों ने उनकी टीम पर हमला कर दिया।इस हमले में अश्विनी कुमार की मौत हो गई।मामला पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर जिले के गोलपोखर थाने का है। थाना क्षेत्र के पनतापारा गांव में भीड़ ने किशनगंज जिले के टाउन थाना के SHO अश्विन कुमार और उनकी टीम पर पर हमला कर दिया।इस हमले में उनकी जान चली गई।

छापेमारी के दौरान हुआ हमला

बताया जा रहा है कि अश्विनी कुमार बाइक चोर को पकड़ने बंगाल के पनतापारा गांव में छापेमारी करने पहुंचे थे। गांव के लोगों ने पुलिसकर्मियों को खदेड़ दिया।वहीं थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार की भीड़ ने पीट-पीट कर हत्या कर दी।घटना की सूचना मिलते ही बिहार के पूर्णिया रेंज के आईजी सुरेश चौधरी और बंगाल के इस्लामपुर एसपी आशुतोष भी मौके पर पहुंचे। इसके बाद अश्विनी कुमार के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए इस्लामपुर अस्पताल ले जाया गया। आईजी सुरेश कुमार ने कहा हम लोग आगे जॉइंट रेड कर अपराधियों पर कार्रवाई करेंगे।जानकारी के मुताबिक़, अश्विनी कुमार पूर्णिया जिले के जानकी नगर थाना क्षेत्र के निवासी थे। 1994 बैच के इंस्पेक्टर अश्विनी एक साल पहले किशनगंज टाउन थाना के थानाध्यक्ष बने थे। जिले में बढ़ती चोरी की घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए एसपी कुमार आशीष ने क्राइम मीटिंग में सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया था।अश्विनी कुमार को 8 अप्रैल को बाइक चोरी मामले में गिरफ़्तारी करने का आदेश मिला था।उनकी हत्या होने के बाद बिहार पुलिस एसोसिएशन के अध्यक्ष मृत्युंजय कुमार सिंह ने पीड़ित परिवार को केंद्र सरकार और राज्य सरकार की तरफ से 1-1 करोड़ रुपये का मुआवजा देने की भी मांग की है।पुलिस मेंस एसोसिशन का कहना है कि पश्चिम बंगाल पुलिस के असहयोग के कारण ही बिहार के जांबाज इंस्‍पेक्‍टर की जान गई है। अगर बंगाल की पुलिस समय पर बैकअप देने के लिए पहुंचती तो शायद ऐसा नहीं होता। एसोसिएशन के अध्‍यक्ष मृत्‍युंजय कुमार सिंह ने कहा कि बंगाल में कानून नाम की कोई चीज नहीं है। बिहार के इंस्‍पेक्‍टर ने बंगाल की पुलिस से बैकअप मांगा था, लेकिन वहां की पुलिस ने कोई सहयोग नहीं किया।इस मामले को लेकर भाजपा के पाटलिपुत्र सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने पश्चिम बंगाल सरकार और वहां के प्रशासन पर हमला बोला है। उन्‍होंने कहा है कि यह घटना बंगाल में कानून-व्‍यवस्‍था की स्थिति को उजागर करने के लिए काफी है। वहां पूरी तरह गुंडों का राज है।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *