July 27, 2021
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • नक्सली हमले में शहीद राजकुमार का पार्थिव शरीर अयोध्या के सरयू घाट रवाना, अंतिम दर्शन को उमड़ा जन सैलाब

नक्सली हमले में शहीद राजकुमार का पार्थिव शरीर अयोध्या के सरयू घाट रवाना, अंतिम दर्शन को उमड़ा जन सैलाब

By Purvanchalnama Desk on April 6, 2021
0 27 Views
शेयर न्यूज

लखनऊ-छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले में शहीद हुए रामनगरी के सपूत का राजकुमार यादव का पार्थिव शरीर सोमवार देर रात अयोध्‍या पहुंचा। बेटे का पार्थिव शरीर देख परिवार में कोहराम मच गया। इस दौरान शहीद के अंत‍िम दर्शन को चाहने वालों का तांता लगा रहा। मंगलवार सुबह जनसैलाब के साथ शहीद का पार्थिव शरीर राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार को सरयू घाट ले जाया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीर गत‍ि को प्राप्‍त शहीद के परिवार को 50 लाख भेंट किए। इसमें से 35 लाख शहीद की पत्नी वह 15 लाख शहीद की मां को दिए गए। दोनों के खाते में पैसे सोमवार ट्रांसफर कर दिए। यह जानकारी महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने दी है। वहीं, मुख्यमंत्री के सात अप्रैल को राम नगरी आने की भी संभावना है। इस दौरान वे शहीद परिवार से मिलने उनके आवास पर भी जा सकते हैं।

नक्सलियों के हमले में हुए शहीद

बीजापुर और सुकमा जिले की सीमा पर सीआरपीएफ की कोबरा 210 बटालियन में तैनात अयोध्या कोतवाली क्षेत्र के रानोपाली बढ़ई टोला निवासी राजकुमार यादव ने भी नक्सलियों से मोर्चा लिया। अदम्य साहस का परिचय देते हुए राजकुमार ने नक्सलियों ने दांत तो खट्टे कर दिए, लेकिन अंतत: वह वीरगति को प्राप्त हुए। चार जुलाई वर्ष 1976 को रानोपाली निवासी सूरजलाल यादव के घर वीर सपूत राजकुमार यादव का जन्म हुआ था। वर्ष 1995 में वह सीआरपीएफ में नियुक्त हुए। वे ताइक्वांडो के शानदार खिलाड़ी भी रहे।गत वर्ष दिसंबर में राजकुमार छुट्टियों पर घर आए थे। 11 जनवरी को देश के प्रति जिम्मेदारी निभाने के लिए वह वापस ड्यूटी पर चले गए। दो दिन पहले ही वाट्सएप मैसेज के जरिये राजकुमार की अपने भाई रामविलास से वार्ता हुई थी, जिसमें उसने अपने परिवार का कुशलक्षेम जाना था।बता दें कि शुक्रवार शाम छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली कमांडर हिडमा के छिपे होने की जानकारी सुरक्षाबलों को मिली थी। जिसके बाद शुक्रवार शाम को सुरक्षाबलों ने बीजापुर और सुकमा बॉर्डर पर पड़ने वाले जोनागुडा इलाके में ऑपरेशन शुरू किया,लेकिन तभी नक्सलियों ने सुरक्षाबलों पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं।नक्सलियों ने तीन तरीके से सुरक्षाबलों पर हमला किया। पहला बुलेट से, दूसरा नुकीले हथियारों से और तीसरा देसी रॉकेट लॉन्चर से।इस हमले में 200 से 300 नक्सली शामिल थे। इस हमले में सुरक्षाबलों के 22 जवान शहीद हुए हैं, जबकि कई घायल हो गए हैं। करीब 15 नक्सलियों के भी मारे जाने की खबर है।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *