June 30, 2022
ब्रेकिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • टॉप न्यूज
  • बीजापुर मुठभेड़ में 23 जवान शहीद, चुनाव प्रचार बीच में छोड़कर असम से दिल्ली लौट रहे अमित शाह

बीजापुर मुठभेड़ में 23 जवान शहीद, चुनाव प्रचार बीच में छोड़कर असम से दिल्ली लौट रहे अमित शाह

By Purvanchalnama Desk on April 4, 2021
0 101 Views
शेयर न्यूज

नई दिल्ली(एजेंसी)-छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर में शनिवार को नक्सलियों ने 700 से अधिक जवानों को घेर कर हमला किया। बीजापुर एसपी ने रविवार को बताया कि नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए हैं और कई जवान अब भी लापता हैं।नक्सलियों ने दो दर्जन से अधिक सुरक्षाकर्मियों के हथियार भी लूट लिए। लापता जवानों की तलाश के लिए आज सुबह से सुरक्षाबल का सर्च अभियान जारी है।नईदुनिया के अनुसार कुल 23 जवान शहीद हुए हैं। रविवार दोपहर तक कुल 23 शव निकाल जा चुके हैं। नईदुनिया के अनुसार बीजापुर एसपी कमलोचन कश्यप ने इसकी पुष्टि की है। गांव के करीब और जंगल में शहीद जवानों के शव मिले हैं। डीजीपी डीएम अवस्थी ने नईदुनिया को जानकारी दी है कि दो शव निकाले गए हैं और 20 शव घटनास्थल पर ही हैं। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह नक्सली हमले के मद्देनजर असम में अपना चुनाव प्रचार अभियान बीच में ही छोड़कर दिल्ली लौट रहे हैं।

अमित शाह वापस लौट रहे दिल्ली

नक्सलियों ने दो दर्जन से ज्यादा हथियार लूट लिए हैं और जवानों के जूते और कपड़े तक लेकर चले गए हैं। इससे पहले शनिवार को पुलिस ने 5 जवानों के शहीद होने की पुष्टि की थी और 15 जवान लापता बताए जा रहे थे। इससे पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुठभेड़ के संबंध में छत्तीसगढ़ के मख्यमंत्री भूपेश बघेल से बात की। गृह मंत्री के आदेश पर सीआरपीएफ के महानिदेशक कुलदीप सिंह स्थिति का जायजा लेने के लिए आज सुबह छत्तीसगढ़ पहुंचे। सीएम बघेल आज शाम तक असम से छत्तीसगढ़ लौट आएंगे। उन्होंने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह से फोन पर बात हुई। उन्होंने सीआरपीएफ महानिदेशक को राज्य में भेजा है। इसमें घायल 30 जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से 23 घायलों को बीजापुर अस्पताल में और 7 को रायपुर के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। एक रिइंफोर्समेंट पार्टी को मुठभेड़ स्थल पर भेजा गया है। दर्जनभर से ज्यादा नक्सलियों के मारे जाने की खबर है। बस्तर आईजी सुंदरराज के अनुसार घटनास्थल के आसपास अभी भी नक्सलियों के मौजूदगी की आशंका है। ऐसे में रिइंफोर्समेंट पार्टी सावधानी से आगे बढ़ रही है। उन्होंने कोबरा बटालियन के एक जवान की शहादत की जानकारी दी थी। एक महिला नक्सली का शव बरामद होने की भी खबर दी। साथ ही उन्होंने कम से कम 15 नक्सलियों के मारे जाने की बात कही थी। छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी ने शनिवार को जानकारी दी थी कि नक्सल विरोधी अभियान के दौरान सुरक्षाबलों की एक संयुक्त टीम की नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हुआ। पिछले 10 दिनों से छत्तीसगढ़ में सुरक्षा बलों को प्रतिबंधित सीपीआई (माओवादी) के एक शीर्ष नक्सली मादवी हिडमा के ठिकाने के बारे में जानकारी मिल रही थी। उसका नाम 2013 के झीरम घाटी में हुए हमलें सहित कई बड़े हमलों से जुड़ा हुआ है। 2013 में झीरम घाटी नक्सली हमले में छत्तीसगढ़ कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं सहित 30 से अधिक लोग मारे गए थे।राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने नक्सली हमले पर दुख जताया और शोक संतप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्य​क्त की।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोंदी जवानों के शहादत पर गहरा दुख जताते हुए कहा कि मेरे विचार छत्तीसगढ़ में नक्सलियों से लड़ते हुए शहीद हुए जवानों के परिवारों के साथ हैं। वीर शहीदों की कुर्बानियों को हमेशा याद रखा जाएगा। घायलों के जल्द से जल्द ठीक होने की कामना है।


शेयर न्यूज
Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *