April 15, 2021
ट्रेंडिंग न्यूज

Sign in

Sign up

  • Home
  • स्टेट न्यूज
  • बिहार में शराबबंदी पर हमलावर हुए तेजस्‍वी, बोले- CM नीतीश सबसे बड़े शराब माफिया

बिहार में शराबबंदी पर हमलावर हुए तेजस्‍वी, बोले- CM नीतीश सबसे बड़े शराब माफिया

By on March 11, 2021 0 4 Views

 

पटना-बिहार में शराब की अवैध बिक्री और राज्य सरकार में मंत्री के एक घर से कथित तौर शराब की बरामदगी के आरोप को लेकर राजद नीतीश सरकार पर हमलावर है। बुधवार को विधानसभा तो गुरुवार को तेजस्वी यादव ने प्रेस कांफ्रेंस कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोला, साथ ही कई आरोप लगाए।नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बोलते बोलते यहां तक कह दिया कि बिहार में अगर सबसे बड़ा शराब माफिया कोई है तो वो हैं नीतीश कुमार क्योंकि उनके संरक्षण में शराब का धंधा फल-फूल रहा। बिहार में इतना कुछ हो रहा है लेकिन उन्हें ही पता नहीं होता। सरकार अगर वो चला रहे हैं, प्रशासन वो चला रहे हैं तो दोषी कौन होगा।

नीतीश के विधायक नशे में लगाते हैं ठुमके-तेजस्वी

तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार की सरकार में सत्‍ताधारी दल के कई विधायक भी नशे में बार बालाओं संग ठुमके लगाते देखे जा चुके हैं। सरकार बड़े लोगों पर कार्रवाई नहीं कर रही, केवल गरीबों-मजदूरों पर कार्रवाई कर रही है।भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता व नीतीश सरकार में मंत्री रामसूरत राय (Ram Surat Rai) के भाई के घर से शराब की बरामदगी पर तेजस्‍वी यादव ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने कहा कि सरकार ने शराबबंदी कानून का मजाक बना दिया है। तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार से मंत्री रामसूरत राय को बर्खास्त करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि वंचित समाज के लोगों को ही शराबबंदी कानून से परेशान किया जा रहा है। उन्हें जेल भेजा जा रहा है। जबकि, मंत्री और अधिकारी शराब बेच रहे हैं।तेजस्वी यादव ने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार इस राज्य के सबसे बड़े शराब माफिया हैं, क्योंकि उनकी जानकारी में ही सबकुछ हो रहा है। फिर भी कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। मंत्री रामसूरत राय के घर से शराब पकड़ी गई है। जमीन उनके पिता की है। उनके भाई पर एफआइआर है तो वे गुनाहगार हैं। उन्हें सरकार में बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।तेजस्वी ने कहा कि नीतीश सरकार के 64 फीसद मंत्री दागी हैं। नीतीश कुमार को तो पता नहीं रहता। जबकि, तमाम मंत्री एफेडेविट देकर चुनाव जीते और मंत्री बने हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *